फैशन

‘प्राइमर’ का इस्तेमाल करें और सेलिब्रिटी जैसा मेकअप पाएं

मेकअप को लेकर कई लोग उत्सुक होते हैं। परफेक्ट मेकअप करने के तरीके के बारे में आपने कई वीडियो देखे होंगे। आपने वीडियो में परफेक्ट दिखते हुए मेकअप आर्टिस्ट से ‘प्राइमर’ शब्द तो सुना ही होगा। मेकअप में प्राइमर का बहुत महत्व होता है और आज हम जानेंगे कि इसका इस्तेमाल कैसे करना है और इसके क्या फायदे हैं। इसके फायदे पढ़कर आप इसका इस्तेमाल जरूर शुरू कर देंगे तो चलिए शुरू करते हैं?

एक प्राइमर क्या है?
जैसे दीवारों को पेंट करने से पहले प्राइमर लगाया जाता है। प्राइमर लगाने से दीवारें चिकनी और अच्छी लगती हैं। वैसे ही प्राइमर आपके चेहरे को बेदाग दिखाने के लिए जरूरी है। मेकअप से पहले प्राइमर लगाया जाता है। यह क्रीम आपकी त्वचा के रंग या पारदर्शी रूप में होती है। इसे लगाने से आपके मेकअप लुक में काफी फर्क आ जाता है। तो यह मेकअप लगाने से पहले आपकी त्वचा के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण उत्पाद है।

प्राइमर के इस्तेमाल के फायदे
अब आप जानते हैं कि प्राइमर का उपयोग कैसे करें। लेकिन आपको यह भी जानना होगा कि इसके क्या फायदे हैं। तो आइए जानें प्राइमर लगाने के फायदे

1. चिकना आधार
आप चाहे कितना भी अच्छा मेकअप कर लें, आपकी त्वचा को अच्छी दिखने की जरूरत है। प्राइमर लगाने के बाद आपकी त्वचा को स्मूद बेस मिलता है। आपकी त्वचा पर लगाया गया मेकअप अधिक खुला दिखता है क्योंकि यह आपकी त्वचा को खुरदुरे छोड़े बिना एक समान दिखता है। अगर आप फाउंडेशन लगाने से पहले प्राइमर लगाती हैं, तो आपको तुरंत फर्क नजर आने लगेगा।

2. यहां तक ​​कि त्वचा की रंगत
लगातार धूप और प्रदूषण के संपर्क में रहने के कारण कई लोगों की त्वचा का रंग एक जैसा नहीं होता है। माथे और नाक को अक्सर काला कर दिया जाता है। आप रातों-रात अपने स्किनटोन में सुधार नहीं कर सकते। प्राइमर आपको जल्दी ठीक करने का काम करता है। प्राइमर आपकी स्किनटोन को एक समान रखने में मदद करता है।

3. त्वचा को पोषण देता है
इन्हें हैवी मेकअप करने की आदत होती है और ये अपनी स्किन का काफी ख्याल रखती हैं। अगर आप लगातार मेकअप कर रही हैं तो आपको अपनी त्वचा की देखभाल करने की जरूरत है। अगर आप अपने चेहरे पर प्राइमर लगाती हैं और फिर मेकअप करती हैं, तो आपकी त्वचा पर एक सुरक्षात्मक परत बन जाती है। प्राइमर लगाने से मेकअप आपकी त्वचा से चिपकता नहीं है। इसलिए आपकी त्वचा अच्छी बनी रहती है।

4. शिकन मुक्त त्वचा को कम करता है
बहुत से लोगों के चेहरे पर मेकअप के बाद झुर्रियां पड़ जाती हैं। लेकिन अगर आप प्राइमर का इस्तेमाल करती हैं तो आपके चेहरे की झुर्रियां भी ढक जाती हैं। आपकी त्वचा बेहतर दिखती है। अगर आपकी भी त्वचा पर झुर्रियां हैं और इस वजह से आपका मेकअप फटा हुआ है तो आपको प्राइमर का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए।

5. छिद्रों को कम करता है
एक निश्चित उम्र के बाद चेहरे पर रोमछिद्र दिखाई देने लगते हैं। अब आपके चेहरे के पोर्स इतने बुरे नहीं लगते। लेकिन गौर से देखने पर चेहरे पर रोमछिद्रों पर बारीक-बारीक गड्ढे नजर आने लगते हैं. दिखने में भले ही ये खराब न हों लेकिन चेहरे पर इनका काफी असर होता है। क्योंकि अगर आप इसमें मेकअप लगाती हैं तो आपको पिंपल्स हो सकते हैं। ऐसे में प्राइमर आपके रोमछिद्रों के आकार को कम करने और उन्हें अस्थायी रूप से बंद करने का काम करता है। कई लोग इसी वजह से प्राइमर लगाने की सलाह देते हैं।

6. तेल और चमक कम करें
मेकअप लगाने के बाद कई लोगों की त्वचा ऑयली नजर आती है। उनके चेहरे पर एक अलग ही चमक दिखाई देती है। यह चमक अच्छी नहीं है। क्योंकि इससे चेहरे पर ज्यादा परेशानी हो सकती है। यह चमकदार चेहरे पर तेलीयता है। जो त्वचा की सेहत के लिए ठीक नहीं है इसलिए आपको पिंपल्स, रैशेज होने की संभावना ज्यादा रहती है। इसलिए आप ऑयलीनेस कम करने के लिए प्राइमर का इस्तेमाल करें।

7. चेहरे पर लाली कम कर देता है
कुछ लोगों के चेहरे बहुत लाल होते हैं। मेकअप करने के बाद भी उनकी लाली कम नहीं होती बल्कि उनका चेहरा ज्यादा लाल नजर आता है। वैकल्पिक रूप से, मेकअप लगाने के बाद, बिना उठे चेहरा काला दिखाई देता है। अगर यह आपके लिए एक समस्या है, तो प्राइमर आपके लिए सबसे अच्छा है। क्योंकि प्राइमर लगाने के बाद आपके चेहरे पर लाली कम हो जाती है।

8. आपको देता है परफेक्ट लुक
अब मेकअप लगाने के बाद हर कोई परफेक्ट लुक चाहता है। परफेक्ट लुक के लिए आप कितनी भी कोशिश कर लें, प्राइमर की वजह से ही आपको मनचाहा लुक मिल सकता है। ऊपर दिए गए फायदों को ध्यान में रखते हुए आप लुक पाने के लिए प्राइमर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

मेरी त्वचा के प्रकार के लिए प्राइमर कैसे चुनें?
बाजार में अब कई तरह के प्राइमर मौजूद हैं। लेकिन इनमें से किसी का भी सीधे अपनी त्वचा पर उपयोग करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। प्राइमरों का भी यही हाल है। अब जबकि यह एक सौंदर्य उत्पाद है, आपको अपनी त्वचा का प्रकार चुनने की आवश्यकता है। आइए देखें कि आपकी त्वचा के प्रकार के अनुसार प्राइमर चुनते समय आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

तैलीय त्वचा के लिए प्राइमर चुनते समय
तैलीय त्वचा और मेकअप का चुनाव बहुत जरूरी है। क्योंकि अगर आप तैलीय पदार्थों से मेकअप का चुनाव करती हैं तो आप काफी नुकसान कर सकती हैं। इसलिए प्राइमर चुनते समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। आपको ऑयल कंट्रोल करने वाला प्राइमर चुनना चाहिए। अगर आप ऑयली प्राइमर चुनते हैं, तो यह आपकी त्वचा में जलन पैदा कर सकता है।

उदा. यदि आप जो प्राइमर लेते हैं उसमें तैलीय पदार्थ होते हैं उदा। यदि आपके पास कोकोआ मक्खन और कुछ विशेष तेल हैं, तो आपको ऐसा प्राइमर कभी नहीं चुनना चाहिए।

रूखी त्वचा के लिए प्राइमर चुनते समय (शुष्क त्वचा के लिए प्राइमर)
रूखी त्वचा के लिए प्राइमर चुनने का मतलब है कि आपको तैलीय त्वचा के बजाय प्राइमर का चुनाव करना होगा। यदि आप तैलीय त्वचा के लिए उपयुक्त प्राइमर चुनते हैं, तो आपकी त्वचा अधिक शुष्क दिख सकती है। आपको ऐसा प्राइमर चुनना होगा जो आपकी त्वचा को मॉइस्चराइज़ करे। इसलिए जब भी आप प्राइमर चुनें तो उसमें मौजूद मॉइश्चराइजिंग इंग्रीडिएंट्स चुनें। इसका मतलब है कि आप उस प्राइमर को और अधिक सुंदर पाएंगे।

नाजुक त्वचा के लिए प्राइमर चुनते समय
जिनकी त्वचा बहुत ही नाजुक होती है। उन्हें अपने द्वारा चुनी गई हर चीज के बारे में बहुत सावधान रहना होगा। प्राइमर चुनते समय एक बात का ध्यान रखें कि आप जो प्राइमर चुनें उसमें केमिकल की मात्रा कम से कम हो। इसमें जितने अधिक प्राकृतिक तत्व होंगे, आप उतना ही अधिक लाभ उठा सकते हैं। इसलिए आपको एक बात का ध्यान रखना चाहिए कि आपको जांचना चाहिए कि आपको क्या परेशान कर रहा है।