स्वास्थ्य

एकल योग मुद्रा के साथ पेट की चर्बी से छुटकारा पायें

योग का नियमित अभ्यास सभी प्रकार की बीमारियों से छुटकारा पाने में मदद करता है। योग शरीर को सही आकार भी देता है। यदि आप अपने बढ़े हुए पेट के बारे में चिंतित हैं, तो आप निश्चित रूप से इस योग मुद्रा से लाभान्वित होंगे। बेली फैट कम करने के लिए बस रोजाना नेविगेट करना बेहद प्रभावी है। इस आसन को करने का सही तरीका जानें।

नेविगेट कैसे करें?

पाल करने के लिए सबसे पहले अपनी पीठ के बल लेटें।
दोनों पैरों को मिलाएं।
दोनों हाथों को पैरों के पास रखें।
उसके बाद, एक गहरी सांस लें और सांस लेते हुए, बाजुओं को पैरों तक खींचें और अपने पैरों और छाती को एक साथ लाने की कोशिश करें।
आपकी आंखें, उंगलियां और पैर की उंगलियां एक सीध में होनी चाहिए।
पेट की मांसपेशियों के संकुचन के कारण नाभि में तनाव महसूस होता है।
एक गहरी सांस लें और कुछ सेकंड के लिए उसी मुद्रा को पकड़ें।
साँस छोड़ते हुए, धीरे-धीरे ज़मीन पर आएं और आराम करें।


नौकासन के लाभ

नौकासन भी पद्मासन का एक हिस्सा है, लेकिन यहाँ केवल एक आसन के दैनिक अभ्यास से पेट अंदर हो जाएगा।
दैनिक नेविगेशन, काठ और पेट की मांसपेशियों को मजबूत करता है।
सही आकार मिलने से हाथ और पैर भी मजबूत होते हैं।
यदि किसी व्यक्ति को हर्निया है, तो नेविगेशन भी उनके लिए बहुत फायदेमंद है।

यह आसन किसे नहीं करना चाहिए?

यदि किसी व्यक्ति को उच्च रक्तचाप, माइग्रेन या पीठ की समस्या है, तो इस आसन से बचना सबसे अच्छा है। हृदय रोग और अस्थमा के रोगियों को पाल नहीं करना चाहिए। साथ ही गर्भवती महिलाओं को यह आसन नहीं करना चाहिए।