स्वास्थ्य

गर्भावस्था के दौरान गन्ने का जूस पीना – फायदे और सावधानियां

गर्भावस्था में महिलाओं को अलग-अलग चीजों की क्रेविंग होती है। इस दौरान अचानक से आपको वह भी खाने की इच्छा हो सकती है जो पहले आप बिलकुल भी पसंद नहीं करतीं थी। गर्भावस्था के दौरान आप जो भी खाती हैं उसका असर आप और आपके बच्चे पर पड़ता है। यदि आपको मीठा पसंद है तो आप फलों के जूस को पीना अधिक पसंद करेंगी पर गर्भावस्था के दौरान क्या आप गन्ने का जूस पी सकती हैं? गर्भावस्था में अन्य सभी जूस पीने की सलाह दी जाती है पर इस समय गन्ने का जूस पीना सुरक्षित है या नहीं, यह बहुत कम लोग जानते हैं। गर्भावस्था के दौरान आप गन्ने का जूस पी सकती हैं या नहीं, इसके फायदे और इसे पीते समय क्या सावधानियां बरतनी चाहिए, इन सबके बारे में हमने यहाँ चर्चा की है। जानने के लिए इस लेख को पूरा पढ़ें।

जैसा कि नाम से पता चलता है गन्ने का जूस गन्ने से निकाला जाता है जो बारहमासी फसल है। आमतौर पर गन्ना गर्मी के मौसम में उगाया जाता है और यह ज्यादातर दक्षिण-पूर्व एशिया और दक्षिण एशिया में पाया जाता है। इससे मुख्य रूप से जूस निकाला जा सकता है। हालांकि इसके जूस को ताजा पीना ही बेहतर है। गन्ने में विटामिन ‘ए’, ‘बी1’, ‘बी2’, ‘बी3’. ‘बी5’, ‘बी6’ और विटामिन ‘सी’ भरपूर मात्रा में होता है। इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम और आयरन भी पाया जाता है। गर्भवती महिलाओं के लिए गन्ने का जूस सुरक्षित और स्वास्थ्य के लिए लाभदायक भी है। हालांकि यदि आप डायबिटीज या जेस्टेशनल डायबिटीज से ग्रसित हैं तो गर्भावस्था के दौरान आपको गन्ने का जूस पीने से बचना चाहिए। इसके अलावा गर्भावस्था में गन्ने का जूस पीना लाभदायक है।

गर्भावस्था के दौरान गन्ने का जूस पीने के स्वास्थ्य लाभ

गन्ने में अनेक विटामिन और मिनरल होते हैं और इसलिए गर्भावस्था के दौरान यह आपके लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद है। गर्भावस्था के दौरान गन्ने का मीठा जूस पीने से आपको स्वास्थ्य संबंधित निम्नलिखित लाभ मिल सकते हैं, आइए जानते हैं;

1. इन्फेक्शन होने से रोकता है

गर्भावस्था के दौरान आपके आहार में विटामिन और मिनरल होना आवश्यक है। गन्ने का जूस पीने से सिर्फ आपको न्यूट्रिशन ही नहीं मिलता है बल्कि इसमें एंटीऑक्सीडेंट भी होते हैं जो गर्भावस्था के दौरान बैक्टीरियल, फंगल और वायरल इन्फेक्शन को ठीक करने में मदद करते हैं।

2. कब्ज से राहत देता है

कई गर्भवती महिलाएं कब्ज का अनुभव करती हैं, गर्भावस्था के दौरान गन्ने का जूस पीने से इसमें मदद मिल सकती है। गर्भावस्था में गन्ने का जूस पीने से कब्ज में आराम मिलता है और इसे अपने आहार में शामिल करने से आपको पेट से संबंधित कई समस्याओं से आराम मिल सकता है।

3. बिलिरुबिन के स्तर को संतुलित रखता है

लिवर के बेहतर फंक्शन के लिए बिलिरुबिन का सही स्तर होना बहुत जरूरी है। गन्ने का जूस रोजाना पीने से बिलिरुबिन का स्तर संतुलित रहता है।

4. सर्दी और जुकाम से बचाता है

गर्भावस्था के दौरान यदि आप सर्दी और जुकाम से ग्रसित हैं तो इसे ठीक करने में गन्ने का जूस आपकी मदद करता है। यह ओवर-द-काउंटर दवा लेने से बेहतर उपचार है।

5. ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है

गन्ने के जूस में ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है जो इसे गर्भावस्था के दौरान पीने के लिए उचित पेय बनाता है। गर्भावस्था आपको बहुत थका सकती है और कमजोर बना सकती है। गर्भावस्था के दौरान गन्ने का जूस पीने से आपको तुरंत एनर्जी मिलती है और आपकी थकान भी कम होती है। 

6. त्वचा में चमक लाता है

गन्ने के जूस में राइबोफ्लेविन होता है जो आपकी स्वस्थ त्वचा के लिए लाभदायक है। इसमें मौजूद विटामिन ‘बी’ आपको घने और लंबे बाल भी प्रदान करता है।

7. मॉर्निंग सिकनेस में मदद करता है 

गन्ने का जूस काफी हद तक मॉर्निंग सिकनेस में आराम प्रदान करता है। इस समस्या के लक्षणों को कम करने के लिए आप गन्ने के जूस में कुछ बूंदें अदरक के रस की मिला सकती हैं। 

8. यूटीआई को ठीक करने में मदद करता है 

गर्भावस्था में यूटीआई या यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन होना एक सामान्य समस्या है और इसमें बहुत ज्यादा दर्द होने के साथ-साथ परेशानी भी होती है। गर्भावस्था के दौरान गन्ने का जूस पीने से आपको यूटीआई की समस्या में आराम मिल सकता है।

11. एक्ने ठीक करता है

गर्भावस्था के दौरान हॉर्मोनल असंतुलन होने के कारण आपको कभी-कभी एक्ने भी हो सकता है । नियमित रूप से गन्ने का जूस पीने से आपकी एक्ने की समस्या खत्म हो सकती है । आप एक्ने को ठीक करने के लिए मुल्तानी मिट्टी में थोड़ा सा गन्ने का जूस मिलाकर भी लगा सकती हैं। 

12. दाँतों के लिए अच्छा है

गर्भावस्था के दौरान दाँतों में बहुत ज्यादा समस्या हो सकती है। गन्ने के जूस में कैल्शियम और मैग्नीशियम होता है जो गर्भावस्था के दौरान दाँतों के स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा माना जाता है और आपको इस समस्या से दूर रखता है।

गर्भावस्था के दौरान गन्ने का जूस पीते समय कुछ सावधानियां बरतें

गर्भावस्था के दौरान गन्ने का जूस पीना सुरक्षित है। हालांकि गन्ने का जूस पीते समय निम्नलिखित सावधानियां बरतने की सलाह दी जाती है, आइए जानते हैं;

  1. गर्भावस्था के दौरान हर समय स्वच्छता रखना आवश्यक है। यह सुनिश्चित करें कि आप किसी स्वच्छ जगह से ही गन्ने का   जूस लें। स्ट्रीट वेंडर से गन्ने का जूस खरीदने से बचें क्योंकि इससे आपको फूड पॉयजनिंग या पेट का इन्फेक्शन हो सकता है। 
  2. यह सलाह दी जाती है कि आप गन्ने का जूस संयमित मात्रा में पिएं। इस जूस में शुगर की मात्रा अधिक होती है और यदि इसे आवश्यकता से ज्यादा मात्रा में पी लिया जाए तो कई कम्प्लीकेशन हो सकते हैं। 
  3. यदि आपको डायबिटीज या जेस्टेशनल डायबिटीज है तो गन्ने का जूस पीने से बचें। 
  4. अपने आहार में गन्ने का जूस शामिल करने से पहले डॉक्टर से सलाह अवश्य लें। 

गर्भावस्था में गन्ने का जूस पीने के कई फायदे हैं। परंतु इसका मतलब यह नहीं है कि आप इसे जरूरत से ज्यादा पिएं। यह सलाह दी जाती है कि आप गर्भवस्था के दौरान अपने आहार में गन्ने का जूस शामिल करने से पहले इस बारे में एक बार डॉक्टर से चर्चा जरूर करें।