खाना पानी

क्या आप जानते हैं बाजरे के स्वास्थ्य लाभ?

ठंड के दिन नजदीक आने के साथ, हमारे महाराष्ट्रीयन परिवार की मासिक किराना सूची में एक चीज निश्चित रूप से बढ़ी है, वह है बाजरा।

ठंड के दिनों में हम बाजरे की रोटी, बाजरे की खिचड़ी, थालीपीठ बनाते हैं.

चूंकि बाजरा गेहूं या चावल की तुलना में ‘ग्लूटेन फ्री’ होता है, इसलिए हम इसे विभिन्न खाद्य पदार्थों में भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

लेकिन ऐसा करने से पहले बाजरा इतना स्वस्थ क्यों है?

बाजरा के स्वास्थ्य लाभ वास्तव में क्या हैं?

यह जानकर हम इसे अपने आहार में सहर्ष स्वीकार कर सकते हैं।

आइए आज जानें बाजरे के स्वास्थ्य लाभ क्या हैं।
1. प्रोटीन बड़ी मात्रा में पाए जाते हैं

बाजरा प्रोटीन से भरपूर होता है।

बाजरा प्रोटीन का अच्छा स्रोत है, खासकर शाकाहारियों के लिए।

जिस तरह आपको अपने शरीर की ऊर्जा को फिर से भरने के लिए प्रोटीन की आवश्यकता होती है, उसी तरह आपको अपनी मांसपेशियों के निर्माण के लिए भी प्रोटीन की आवश्यकता होती है।

2. फाइबर प्रचुर मात्रा में होता है

हमारे द्वारा खाए जाने वाले भोजन के पाचन में फाइबर सबसे महत्वपूर्ण घटक है।

फाइबर आपके आंत में अच्छे बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा देता है, जो बदले में आपके पाचन में सुधार करता है।

पाचन क्रिया बढ़ने से मामूली अपच, कब्ज आदि नहीं होता है।

फाइबर के दो अन्य मुख्य फायदे हैं।

आहार में फाइबर की मात्रा जितनी अधिक होगी, आपका पेट उतनी ही तेजी से भरेगा और आपकी भूख कम होगी।

यह दो भोजन के बीच खाने को कम करता है।

इसलिए फाइबर से भरपूर आहार वजन घटाने के लिए फायदेमंद होता है।

अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं, तो आपको उसी कारण से बाजरे की रोटी खानी चाहिए।

वजन घटाने के लिए पोली या चावल की जगह बाजरे की रोटी खाना फायदेमंद होता है।

3. मधुमेह रोगियों के लिए उपयोगी

बाजरा मैग्नीशियम से भरपूर होता है।

जब आपके शरीर में मैग्नीशियम की कमी होती है, तो यह पर्याप्त इंसुलिन का उत्पादन नहीं करता है, जो रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ाता है।

इसलिए मैग्नीशियम से भरपूर खाद्य पदार्थ मधुमेह रोगियों के लिए उपयोगी होते हैं और बाजरा उनमें से एक है।

4. कोलेस्ट्रॉल कम करता है

बाजरा में फाइबर की मात्रा अधिक होती है।

यह शरीर के कम घनत्व वाले कोलेस्ट्रॉल को कम करता है, जो शरीर के लिए हानिकारक है, और उच्च घनत्व वाले कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है, जिसे अच्छे कोलेस्ट्रॉल के रूप में भी जाना जाता है।

तो बाजरा उन लोगों के लिए एक बढ़िया विकल्प है जिन्हें कोलेस्ट्रॉल या अन्य हृदय विकार हैं।

5. दिल की सेहत के लिए फायदेमंद

बाजरा दिल के लिए फायदेमंद होता है क्योंकि यह मैग्नीशियम और पोटेशियम से भरपूर होता है।

आपके शरीर में सोडियम और पोटेशियम का संतुलन होना बहुत जरूरी है।

ऊंचा सोडियम स्तर उच्च रक्तचाप का कारण बन सकता है।

पोटेशियम हमारे शरीर में सोडियम के स्तर को कम करता है।

इसलिए हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित लोगों के लिए बाजरा बहुत फायदेमंद होता है।

5. पित्त की समस्या को कम करता है

पेट में एसिडिटी किसी कारण से एसिडिटी यानी पित्त का कारण बनती है।

पेट में एसिड का स्तर कई कारणों से बढ़ सकता है, जैसे समय पर खाना न खाना, बहुत ज्यादा पित्त खाना।

बाजरा पित्त को शांत करने के लिए उपयोगी है क्योंकि इसमें क्षारीय गुण होते हैं।

इसलिए बाजरे की रोटी या खिचड़ी खाने से पित्त की तकलीफ होते ही तुरंत आराम मिलता है।

6. उच्च स्तर के एंटीऑक्सीडेंट

एंटीऑक्सिडेंट आपके शरीर में कोशिकाओं को मुक्त कणों से बचाते हैं।

स्वस्थ रहने के लिए आहार में अधिक से अधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट शामिल करने चाहिए।

यह आपके इम्यून सिस्टम को भी बूस्ट करता है।

बाजरा में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, इसलिए अगर आप इन्हें अपनी डाइट में शामिल करते हैं तो यह आपकी सेहत के लिए अच्छा होता है।

सर्दी, खांसी और अन्य बीमारियां ठंड के दिनों में जल्दी खराब हो जाती हैं, इसलिए बेहतर होगा कि बाजरे का सेवन करें, खासकर ठंड के दिनों में।

7. एनीमिया के लिए विशेष उपाय

हमारे रक्त में दो प्रकार की कोशिकाएं होती हैं, श्वेत रक्त कोशिकाएं और लाल रक्त कोशिकाएं।

इनमें से सफेद रक्त कोशिकाएं आपको इन विभिन्न बीमारियों से बचाने का काम करती हैं।

लाल रक्त कोशिकाएं हीमोग्लोबिन की मदद से हमारे शरीर की अन्य कोशिकाओं को ऑक्सीजन की आपूर्ति करती हैं।

लेकिन अगर किसी कारण से इन रक्त कोशिकाओं की संख्या कम हो जाती है, तो हीमोग्लोबिन भी कम हो जाता है।

इसे एनीमिया कहते हैं।

यह आपको थका हुआ महसूस कराता है। आहार में आयरन की मात्रा बढ़ाने से रक्त में हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ जाता है।

बाजरा आयरन से भरपूर होता है।

विटामिन बी-9, या फोलिक एसिड, शरीर को नई कोशिकाओं, विशेष रूप से लाल रक्त कोशिकाओं को बनाने में मदद करता है।

इस विटामिन में बाजरा भी अधिक होता है।

इन दोनों कारकों के कारण बाजरा एनीमिया के लिए एक बेहतरीन उपाय है।

8. हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा

बाजरा फास्फोरस से भरपूर होता है। हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए कैल्शियम के साथ-साथ फास्फोरस भी आवश्यक है।

ये दोनों खनिज मिलकर हड्डियों को मजबूत करते हैं।

इसलिए कोशिश करनी चाहिए कि आहार से अधिकतम मात्रा में कैल्शियम और फास्फोरस प्राप्त करें।

यह बाजरा खाने का एक महत्वपूर्ण लाभ है।

9. त्वचा के लिए फायदेमंद

बाजरा खनिजों से भरपूर होता है।

बाजरा में सबसे महत्वपूर्ण खनिजों में से एक जस्ता है।

जिंक आपकी त्वचा के लिए फायदेमंद होता है।

जिंक त्वचा को जवां दिखता है और पिंपल्स जैसी त्वचा की शिकायतों को भी दूर करता है।

बढ़ती उम्र के कारण चेहरे पर झुर्रियां भी शरीर में जिंक की सही मात्रा में मौजूद थीं