स्वास्थ्य

तांबे की अंगूठी पहनने के फायदे

ज्योतिष में नौ ग्रहों का उल्लेख किया गया है, और सभी ग्रहों में अलग-अलग धातुएं हैं। ग्रहों का राजा सूर्य है और सूर्य की धातु तांबा है। हिंदू धर्म में, सोना, चांदी और तांबा पवित्र माना जाता है। इसलिए, पूजा पाठ में इन धातुओं का सबसे अधिक उपयोग किया जाता है। इसके अलावा, इसके अंगूठे भी कई लोगों द्वारा पहने जाते हैं। यहां तांबे की अंगूठी पहनने के फायदे हैं

  1. तांबे की अंगूठी को सूर्य की अनामिका में डालना चाहिए। यह पत्रिका में सूर्य के दोषों को कम करने में मदद करता है।
  2. सूर्य के साथ-साथ एक तांबे की अंगूठी भी मंगल के अशुभ दोषों को दूर करने में मदद करती है।
  3. तांबे की अंगूठी के प्रभाव से सूर्य की शक्ति बढ़ती है, जिससे सूर्य की कृपा से हमें घर परिवार और समाज में सम्मान मिलता है।
  4. तांबे की अंगूठी हमारे शरीर के निरंतर संपर्क में है। इसलिए, तांबे के औषधीय गुणों को शरीर द्वारा प्राप्त किया जाना जारी है। इससे रक्त शुद्ध होता है।
  5. जिस तरह तांबे के बर्तन में रखा पानी सेहत के लिए फायदेमंद होता है, उसी तरह तांबे की अंगूठी भी है।
  6. तांबे की अंगूठी के प्रभाव से पेट से संबंधित बीमारियों में लाभ होता है।
  7. तांबा लगातार त्वचा के संपर्क में रहता है, जिससे त्वचा की चमक बढ़ती है।
  8. आयुर्वेद के अनुसार, तांबे के बर्तनों का उपयोग करने से हमारी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। यह मुख्य लाभ है
  1. तांबे की अंगूठी पहनने से रक्तचाप नियंत्रण में रहता है। इसके अलावा, इस अंगूठी को पहनने से शरीर पर सूजन को कम करने में मदद मिलती है।
  2. तांबे की अंगूठी पहनने से शरीर की गर्मी कम होती है। इसे पहनने से शारीरिक और मानसिक तनाव कम होता है। साथ ही अपने गुस्से पर नियंत्रण रखें। यह वलय शरीर और मन दोनों को शांत रखने में मदद करता है।