Loksabha Election Result Live 2019

Loksabha Election Result Live 2019

देखिये लोकसभा इलेक्शन लाइव

अबकी बार किसकी बनेगी सरकार


17वीं लोकसभा के लिए आज वोटों की गिनती का दिन है। इंतजार की घड़ियां खत्म होने वाला है। 17वीं लोकसभा चुनाव 2019 के लिए 542 सीटों पर हुई वोटिंग के बाद आज मतगणना का दिन है। लोकसभा की 543 में 542 सीटों पर चुनाव के लिए सात दौर की मतगणना हुई है। इनमें 8,000 से अधिक प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला होना है। 11 अप्रैल से 19 मई तक सात चरणों में हुए मतदान में 90.99 करोड़ मतदाताओं में से करीब 67.11 प्रतिशत लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। भारतीय संसदीय चुनाव में यह अब तक का सबसे अधिक मतदान है।वोटों की गिनती को लेकर सारी तैयारियां पूरी हो चुकी है। निर्वाचन आयोग वोटों की गिनती सुबह 8 बजे शुरू करेगा। और कुछ देर बाद रुझान आने शुरू हो जाएंगे। हालांकि इस बार वीवीपैट का मिलान भी किया जाएगा इसलिए अंतिम नतीजे आने में थोड़ी देर हो सकती है। सबसे पहले पोस्टल बैलट की गिनती होगी। इसके बाद करीब 8:30 बजे से इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों की गिनती शुरू होगी। माना जा रहा है कि सुबह 9 बजे से पहले रुझान मिलने शुरू हो जाएंगे। आज पता चल जाएगा कि किसे देश ने अपनी अगली सरकार चलाने के लिए चुना है और किसके सितारे गर्दिश में हैं। क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सत्ता में वापसी होगी, जैसा कि सभी एग्जिट पोल ने इशारा किया है या फिर विपक्ष के दावे सही साबित होंगे। देश की 17वीं लोकसभा के लिए हुए चुनावों में मतगणना के बाद इस सवाल का जवाब मिल जाएगा।हर विधानसभा क्षेत्र से पांच ईवीएम के वोट और वीवीपैट की पर्चियों का मिलान किया जाएगा। इस पूरी प्रक्रिया में पांच से छह घंटे अतिरिक्त लग सकते हैं। दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी रणबीर सिंह ने कहा है कि लोकसभा चुनावों के नतीजों में पांच से छह घंटे की देरी हो सकती है। एक बार जब ईवीएम की गिनती पूरी हो जाएगी तब सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों द्वारा वीवीपैट की गिनती की जाएगी। ईवीएम से जुड़ी शिकायतों पर नजर रखने के लिए केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने नई दिल्ली के निर्वाचन सदन में 24 घंटे का एक ईवीएम कंट्रोल रूम बनाया है। मतगणना के दिन ईवीएम से जुड़ी कोई भी शिकायत इस कंट्रोल रूम में की जा सकेगी। इस कंट्रोल रूम का नंबर 011-23052123 है।एग्जिट पोल ने जहां बीजेपी को नतीजों से पहले मुस्कुराने का मौका दे दिया है। वहीं कांग्रेस 2014 से कुछ बेहतर तो दिख रही। ईवीएम पर शंका-आशंका को लेकर विपक्ष के विरोध के बीच विश्व के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश की भावी सियासी तस्वीर क्या होगी, इसका फैसला आज को हो जाएगा। देश के 90 करोड़ वोटरों में से 60 करोड़ से ज्यादा ने अगले पांच साल के लिए किसे अपना भाग्यविधाता चुना है, इस पर से भी पर्दा उठ जाएगा।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बनाम राहुल गांधी और विपक्ष के बीच करीब दो माह चली चुनावी जंग में किसे मिलेगा ताज और कौन होगा सरताज, यह भी साफ होगा। वहीं, परिणाम अनुकूल नहीं आने पर विपक्षी नेताओं के हिंसा के भड़काऊ भाषणों को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने गंभीरता से लिया है। मंत्रालय ने देश के सभी राज्यों के मुख्य सचिवों और पुलिस महानिदेशकों (डीजीपी) को भेजे पत्र में गुरुवार को हिंसा की आशंकाओं को देखते हुए सतर्क रहने को कहा है।

Please follow and like us:

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *